Fencing तलवारबाजी [History, Rules, Equipment, Court, & Championship]

Fencing तलवारबाजी, Fencing History of India, Fencing Association of India(FAI), तलवारबाजी का मैदान, Fencing rules/तलवारबाजी खेल के नियम, Fencing Equipment, Fencing sword Types/Fencing Sword Name (तलवार के नाम), Fencing Olympics, Fencing Championship, FAQ About Fencing Sports.

तलवार या इसी तरह के हथियार से तलवारबाजी, हमले की कला और बचाव ही आधुनिक तलवारबाजी मनोरंजक और प्रतिस्पर्धी खेल है, लेकिन इसके नियम और तकनीक मूल रूप से द्वंद्वयुद्ध में कुशल तलवार चलाने के लिए विकसित की गई हैं।

भारत के इतिहास में होने वाली सभी युद्धों में तलवारो व तीरंदाजी से युद्ध लड़े जाते थे। वर्तमान समय में आधुनिक हथियारों का उपयोग किया जाता है। पुराने समय महान योद्धावो की तलवारो के नाम हुआ करते थे। जो आज भी प्रसीद्ध है। तलवारबाज़ी को अंग्रेजी में ‘Fencing‘ कहा जाता है।

तलवारबाजी कैसे सीखे आज इस युद्ध कला को बस एक स्पोर्ट्स यानि खेल के रूप में जाना जाता है। इस खेल को दो खिलाड़ियों के मध्य खेला जाता है। सुरक्षा की द्रष्टि से इस खेल में सुरक्षा गार्ड व नियमो का पालन किया जाता है।

Fencing History of India

मध्य युग (5 वीं शताब्दी से 15 वीं शताब्दी) के दौरान तलवार एक आक्रामक हथियार था जो कवच को फोड़ने के लिए इस्तेमाल किया जाता था, और ढाल को रक्षा के रूप में इस्तेमाल किया जाता था।

बारूद सामान्य उपयोग में आने के बाद, भारी रक्षात्मक कवच अप्रचलित हो गया, और तलवार रक्षात्मक होने के साथ-साथ आक्रामक हथियार भी बन गया। 16 वीं शताब्दी में इटली में रैपियर को पेश किया गया था,

18 वीं शताब्दी के दौरान फ्रांस में छोटी तलवार, या एपि का आविष्कार और लोकप्रिय हुआ। नए हथियार में तलवारबाजी की अलग-अलग इतालवी और फ्रांसीसी शैली थी।

19 वीं शताब्दी में द्वंद्वयुद्ध आम तौर पर गैरकानूनी था, और खेल के उद्देश्यों से स्कूलों ने तलवारबाजी सिखाने का काम किया। इस समय फेंसर्स द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश उपकरण विकसित किए गए थे, जिनमें तलवार के हाथ में पहना जाने वाला दस्ताने, प्लास्ट्रॉन (चेस्ट प्रोटेक्टर), और वायर नेटिंग का मास्क शामिल था।

Fencing तलवारबाजी [History, Rules, Equipment, Court, & Championship]

Fencing definition तलवारबाज़ी के खेल का प्रचलन का भारत में बहुत पुराना इतिहास रहा है, क्यों मार्सल आर्ट के लगभग सभी खेलो का जन्म दाता भारत ही है। कलरीपायट्टु जैसे खेल जो विश्व का सबसे पुराना मार्सल आर्ट भी कहा जाता है। जिसमे तलवार बाज़ी, लाठी चलाना आदि है।

फेंसिंग एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया भारत में तलवारबाजी का खेल भारतीय ओलंपिक संघ द्वारा इसके राष्ट्रीय खेल संघ के सदस्यों में से एक के रूप में मान्यता प्राप्त है।

1970 के बाद भारत में लगभग तलवारबाजी का खेल शुरू किया गया था। 1974 में FENCING ASSOCIATION OF INDIA (FAI) का गठन किया गया था। हालाँकि प्रतियोगिताओं की शुरुआत 1990 के दशक के अंत में की गई थी।

राष्ट्रीय खेल फेडरेशन के रूप में, अंतर्राष्ट्रीय फेसिंग फेडरेशन और एशिया के तलवारबाजी परिसंघ से संबद्ध और खेल मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त है।

Fencing Association of India(FAI)

SportsFencing/तलवारबाजी/फेंसिंग 
New Rules for The SaberNEW RULES FENCING
President (FAI)Shree Rajeev Mehta
  Competitions RulesRULES FENCING COMPETITIONS
Organisation RulesORGANISATION FENCING RULES
Started in India1974
Official WebsiteCLICK HERE

तलवारबाजी का मैदान

तलवारबाजी का मैदान
  • फेसिंग या तलवारबाज़ी के मैदान को कहा जाता है।
  • पिस्ट 1.5 और 2 मीटर (4.9 और 6.6 फीट) चौड़ी और 14 मीटर (46 फीट) लंबी होती है।
  • जिसके दोनों किनारो पर 1.5 मीटर का लम्बा रनबैक होता है।
  • पिस्ट में एक केंद्र रेखा, एन-गार्डे रेखाएं, चेतावनी रेखाएं और पीछे की सीमा रेखाएं होती हैं।
  • इस के दोनों किनारो पर एक स्पूल या रील होती है।
  • जिसमें 20 मीटर (66 फीट) केबल होती है। जिसे फ़ेंसर्स से जोड़ते हैं।

Fencing Olympics

1896 से ओलंपिक खेलों में तलवारबाजी इवेंट एक है, और आधुनिक तलवारबाजी में पाँच इवेंट में से एक है। अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं को फेडरेशन इंटरनेशनल डी’एसक्राइम (इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फेंसिंग), खेल के वर्ल्ड गवर्निंग बॉडी द्वारा स्वीकृत किया जाता है।

प्रत्येक हथियार के इंडिविजुअल और टीम चैंपियन को निर्धारित करने के लिए प्रतिवर्ष एक विश्व चैम्पियनशिप आयोजित की जाती है। संयुक्त राज्य अमेरिका में, स्थानीय स्तर पर, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय आधार पर US. फेंसिंग एसोसिएशन द्वारा प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है।

जिसे पहले अमेरिका की एमेच्योर फेंसर्स लीग (1891 में स्थापित) के रूप में जाना जाता था। कॉलेज स्तर पर प्रतियोगिताएं नेशनल कॉलेजिएट एथलेटिक एसोसिएशन (NCAA) के सुरक्षा में आयोजित की जाती हैं।

Fencing Equipment

Fencing Equipment
  1. नेशनल यूनिफार्म में शामिल हैं-
  2. ग्लोव
  3. शॉक्स
  4. जैकेट
  5. ब्रीचेस
  6. मास्क आदि।

Fencing rules/तलवारबाजी खेल के नियम

Update soon

Fencing rules/तलवारबाजी खेल के नियम

Fencing sword Types/Fencing Sword Name (तलवार के नाम/प्रकार)

FOIL

  • वजन- तलवार का कुल वजन 500 ग्राम से कम होना चाहिए।
  • लंबाई- अधिकतम कुल लंबाई 110 सेमी होनी चाहिए।
  • ब्लेड- यह आयताकार और स्टील से बनी होनी चाहिए।
  • सुरक्षा के लिय किनारों को चिकना होना चाहिए ताकि वे काट न सकें।

EPEE

  • वजन- तलवार का उपयोग के लिय कुल वजन 770 ग्राम से कम होना चाहिए।
  • लंबाई- अधिकतम कुल लंबाई 110 सेमी होनी चाहिए।
  • ब्लेड- यह त्रिकोणीय और स्टील से बनी होनी चाहिए।
  • सुरक्षा के लिय किनारों को चिकना होना चाहिए ताकि वे काट न सकें।

SABRE

  • वजन- तलवार का उपयोग के लिय कुल वजन 500 ग्राम से कम होना चाहिए।
  • लंबाई- अधिकतम कुल लंबाई 105 सेमी होनी चाहिए।
  • ब्लेड- यह आयताकार और स्टील से बनी होनी चाहिए।
Fencing Championship

चैंपियनशिप में आप किस प्रकार हिस्सा ले सकती है। ये दो प्रकार की होती है। 1.ऑफिसियल चैंपियनशिप  2. ओपन चैंपियनशिप

ऑफिसियल चैंपियनशिप

इस प्रकार की प्रतियोगिता से अपन काफी लाभ उठा सकते है। जैसे की किसी भी स्पोर्ट्स से रेलेटेड भर्ती को फायदा ऑफिसियल सर्टिफिकेट से लिया जा सकता है। तथा गवरमेंट द्वारा दी जाने वाली जो भी सहायता राशि है वो फेडरेशन से समंदित अगर कोई भी टूर्नामेंट खेला है तो ही प्राप्त होगी।

कोई भी स्पोर्ट्स हो आपको उस से समंदित इवेंट ही खेलना चाइय। जिसका पूरा लाभ आप उठा सके। क्यू की बहुत से फ़र्ज़ी टूर्नामेंट होते जो खिलाडी बिना किसी जानकारी के खेल लेते है। जिनका फिर उनको आगे कोई फायदा नहीं मिलता है। किसी प्रकार के कोई भी इवेंट में हिस्सा लेने से पहले उस से रेलेटेड फेडरेशन के बारे में जरूर जाने ले।

ओपन चैंपियनशिप
ओपन चैंपियनशिप

जिसका आयोजन कोई भी कर सकता है। जो रेलेटेड स्पोर्ट्स से हो ओपन चैंपियनशिप का आपको किसी भी जॉब या गवरमेंट द्वारा दिए सहायता धन राशि का लाभ आप नहीं उठा सकते है। इस प्रकार की प्रतियोगिता को आप अपने इवेंट की अनुभव के लिय और अपने तैयारी को और अच्छा करनी के लिय खेल सकती है।

इसकी अलावा आपको कोई फायदा नहीं मिलिगा। किसी भी इवेंट में भाग लेने से पहले आप जरूर जांच कर ले की वो किस प्रकार की प्रतियोगिता है। आप अपने धन की बर्बादी तो नहीं कर रहे।  

नोट

आप जिस भी स्पोर्ट्स से रेलेटेड है। उसकी अपनी एक ऑफिसियल फेडरेशन है। अर्थात उसको इंडियन ओलम्पिक एसोसिएशन मान्यता प्राप्त है। अगर वो कोई भी ओपन इवेंट या चैंपियनशिप का आयोजन करती है तो उसका आपको कुछ जगह फायदा मिल सकता है। जैसे स्पोर्ट्स जॉब कुछ रैंकिंग इम्प्रूव टूर्नामेंट होती है। उनका आपका पता रखना होगा। उस इवेंट के लेटर में ये आप पढ़ सकती है। की वो किस फेडरेशन या स्पोर्ट्स से सम्बंद है।

FAQ About Fencing Sports
Questionतलवार कहां की प्रसिद्ध है?

Answer– भारत में तलवार सिरोही की प्रसिद्ध है।

Question- तलवारबाजी किस प्रकार का खेल है?

Answer- तलवारबाजी तीन संबंधित प्रकार के खेलों का एक समूह है। आधुनिक तलवारबाजी में तीन इवेंट फॉयल, इपी, और सबरे होते हैं। जिनमे अलग अलग इवेंट के खिलाडी भाग लेते है।

Question- What is a fencing area called?

Answer- Piste.

Question- What are the 3 types of fencing?

Answer- FOIL, EPEE, SABRE.

Question- What is the fastest type of fencing?

Answer- SABRE.

Question- Who is the number 1 fencer in the world?

Answer- Rank- 1, point- 176.000, name- POPESCU Ana Maria.

Question- What age should you start fencing?

Answer- 9 Year.

Admin-

आप किसी भी स्पोर्ट्स कोटा से सम्बंधित स्पोर्ट्स भर्ती की जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट कर सकते है जो की है – Gosportsindia.com स्पोर्ट्स कोटा भर्ती या अन्य आर्मी रैली के बारे में अपना सुझाव कमेंट बॉक्स में दे सकते है हमारी GosportsIndia की टीम आपकी सहायता करेगी आप अगर स्पोर्ट्स भर्ती ,गेम्स या किसी भी प्रकार की स्पोर्ट्स की जानकारी के लिए हमें कमैंट्स बॉक्स में सुझाव दे सकते है।

धन्यवाद –

JOIN TELEGRAM FOR LATEST UPDATE

Scroll to Top