Fish Oil मछली का तेल/मछली के तेल के फायदे और नुकसान

Fish Oil मछली का तेल/मछली के तेल के फायदे और नुकसान(ओमेगा 3 के नुकसान), (मछली के तेल की मालिश)Omega-3 in Food, Fish Oil Benefits, Cancer, Strong Bones, How many milligrams of omega-3 requirement daily/रोजाना हमे कितना मिलीग्राम ओमेगा-3 चाइय, Fish oil Nutritional Value, How to Use Fish Oil, Fish Oil Side Effects, Improve immune system, FAQ About Fish oil use.

मछली का तेल इस तेल में में ओमेगा-3 पाया जाता है। जो सबसे महत्वपूर्ण है। मानव बॉडी की सबसे इम्पोर्टेन्ट भाग होता है इंसानी दिमाग और दिल जो काम करना बंद कर दे तो इंसान जीवित नहीं रहता। जिसके लिय ओमेगा-3 बहुत ही जरूरी है।

What is fish Oil

Fish Oil मछली का तेल/मछली के तेल के फायदे और नुकसान

जिस प्रकार हमे रेगुलर डाइट में प्रोटीन, कार्ब, वसा ,की जरूरत होती है वसे ही ओमेगा-3 की जरूरत होती है। एक बैलेंस डाइट के लिय हमे डेली जरूरत के हेस्साब से खाने में सभी प्रकार के नुट्रिएंट्स और मिनरल्स होने आवश्य्क है।

तभी शरीर को हेल्थी रखा जा सकता है। (मछली का तेल किस काम में आता है) इसकी अल्वा फिश आयल आखो के लिय और बालो, हडियो ,त्वचा ,दिमाग के लिय बहुत ही जरूरी पोशक तत्व है। जो शरीर को हेल्दी बनाये रखने में मदद करता है।

Omega-3 in Food

JOIN TELEGRAM FOR LATEST UPDATE

  1. Fish oil
  2. Chia Seeds
  3. Flax seeds
  4. The nuts
  5. Akhrot
  6. Hole egg.

Fish Oil Benefits

  1. हार्ट के लिय फिश आयल –

फिश आयल ह्रदय को स्वस्थ रखता है। तथा ये हार्ट अटैक के ख़तरे को भी कम करता है। ओमेगा-3 ह्रदय के लिय बहुत ही लाभदायक है और इसके कारण काफी हद्द तक cardiovascular system भी अच्छे से कार्य करता है।

2. फिश आयल आखो के लिय –

ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वसे हे बॉडी भी कमजोर होती है उसे प्रकार बॉडी के पार्ट्स भी कमजोर होते जाते है। जैसे आखे तो जो फिश आयल ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। ये आखो के लिय बहुत हे फायदेमंद होता है।

3. Depression and anxiety-

ओमेगा-3 फैटी एसिड ये डिप्रेसन को कम करता है। फिश आयल अवसाद और चिंता के लिय बहुत ही अच्छा उपाय है।

4. Cancer

कैंसर बहुत ही खतरनाक बीमारी और इसका समय से नहीं पता चले तो इलाज करना भी मुश्किल है कैंसर बहुत प्रकार के होती है। ओमेगा -3 स्वस्थ कोशिकावो का निर्माण करता है है इस से से होनी वाली बीमारी से लड़ने की में मद्दद करता है इसके सेवन से ब्रेस्ट, कोलन व प्रोटेस्ट कैंसर से बचाव का काम करता है।

5. Blood Pressure

फिश आयल में पाया जाने वाला (EPA ) और (DHA) ह्रदय से संभंधित होने वाली बीमारियों को रोकने में मद्दत करते है तथा ब्लड प्रेसर को नियंत्रित करनी में मदद करता है। फिश आयल कुछ हद्द तक मोटापे को यानि Weight Loss में मदद करता है।

6. Improve fertility

ओमेगा-3 में Polyunsaturated fatty acid पाया जाता है। स्पर्म सेल्स को बढ़ाने का काम करता है। जो की पुरुष की प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है।

इसकी अलावा फिश आयल से महिलावो की प्रजनन क्षमता के लिय भी इसे बहुत अच्छा मन जाता है। इसकी अलावा ये महिलावो में गर्भावस्था और गर्भस्थ शिशु को स्वस्थ बनाये रखने में मद्दद करता है। ओमेगा-3 व DHA होता है। ये प्रसव से पहले होने वाली ख़तरे से भी बचाता है।

7. Strong Bones

Strong Bones

फिश आयल में पाया जाने वाला Anti inflammatory गुण और ओमेगा -3 EPA जोड़ो के दर्द को कम करता है, इसके आलावा जिसके हड्डिया कमजोर होती है। जैसे ट्रेनिंग करती समय जोड़ो में दर्द होता है।

बेटने उठने पर पेरो में से आवाज आते है। ऐसी समस्यावो के लिय फिश आयल बहुत ही लाभदायक है, मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी व ओमेगा-3 ईपीए का इस्तेमाल गटिया के दर्द के लिय भी दिया जाता है।

फिश आयल शरीर से Interleukin-1 IL-1 (साइटाकिन्स यानी प्रोटीन का समुह) को भी कम करता है। ये हड्डियो को मजबूत बनाता है और जोड़ो से सम्बन्धित समस्या को दूर करता है।

8. Improve immune system-

फिश आयल बॉडी की इम्मुनिटी को बढ़ाता है। तथा बेक्टीरिया आदि से बचने में मद्दद करता है।

9. Skin-

फिश आयल त्वचा के लिय बहुत ही लाभदायक है ये त्वचा के रूखेपन को दूर करता है।

How many milligrams of omega-3 requirement daily/रोजाना हमे कितना मिलीग्राम ओमेगा-3 चाइय

मछली के तेल में ओमेगा फैटी एसिड मौजूद होते है, इसका इस्तेमाल प्रतिदिन नियमित मात्रा में करना उचित है। एक दिन में दो से तीन ग्राम फिश आयल का ही उपयोग करना चाहिय।

जो की हमारे शरीर की आवश्यकता की पूर्ति करता है। ज्यादा फिश आयल का इस्तेमाल करने से नुक्सान भी हो सकता है। मछली का तेल किस काम में आता है? खाने के अलावा भी फिश आयल की बहुत फायदे है जैसे बॉडी की मालिश घुटनो के दर्द में फिश आयल की मसाज की जाती है।

Fish oil Nutritional Value
Amount Per 100grmsCalories 901 Grams
Daily RequirementIn %
Fat 100 Grams153%
Saturated fat 23 Grams114%
Cholesterol 570 mg191%
Vitamin A2000%
Vitamin D2500%
*Daily Values are based on a 2,000 calorie diet. Your daily values may be higher or lower depending on your calorie needs. 
How to Use Fish Oil
How to Use Fish Oil

फिश आयल का कैसे इस्तेमाल करे ? आप एक पिल्स रोज ले सकते है, या फिर फिश भी खा सकते है। आपको दोपहर के खाने के बाद रोज एक पिल्स ले सकते है। अगर आप रोस्टेड यानी भुनी हुए फिश भी खा सकते है जो की सबसे अच्छी और नेचुरल है।

इसके अलावा फिश आयल का इस्तेमाल मसाज में भी किया जा सकता है। फिश आयल का इस्तेमाल बालो में किया जा सकता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल स्किल ग्लो के लिय किया जा सकता है।

Fish Oil Side Effects

मछली के तेल के नुकसान आप फिश खाने के बाद दूध, दही, लस्सी, घी, आदि चीज़ो का सेवन न करे इस आपका पाचन ख़राब हो सकता है। फिश का सेवन करने के कम से कम चार से पांच घंटे के उपरान्त ही आप इस सब चीज़ो का इस्तेमाल करे।

FAQ About Fish oil use
Question- What are the benefits of taking fish oil?

Answer- फिश आयल हड्डियों, बालो, स्किन, ह्रदय व कलेस्ट्रॉल आदि में मद्दद करता है।

Question- Should I take Omega 3 or fish oil?

Answer- Yes, it is absolutely necessary for the human body to have omega-6, omega-9, etc. which are fulfilled by fish oil.

Question- When should fish oil be taken?

Answer- Because most of the long-term benefits of fish oil are found, you can take it after lunch.

Question- What happens if you take fish oil every day?

Answer- Taking fish oil every day is good for health.

Question- Does fish oil make your weight gain?

Answer- Yes, of course, you can gain weight to some extent from fish oil, because the amount of fat in it is very difficult to digest, so it can make you weight Gain.

Question- मछली का तेल लगाने से क्या होता है?

Answer- फिश आयल लगाने से त्वचा में निकर आता है, और बाल भी अच्छे हो जाते है।

Question- फिश ऑयल कैप्सूल कब खाना चाहिए?

Answer- आप ऐसे दोपहर के खाने के बाद ले सकते है।

Question- Omega 3 कौन सी मछली में पाया जाता है?

Answer- सैल्मन, ट्राउट, सार्डिन, टूना आदि मछली में ओमेगा-6, ओमेगा-9 की भरपूर मात्रा पाई जाती है।

Question- डायबिटीज में मछली खा सकते हैं क्या?

Answer- डायबिटीज में मछली खाना बहुत अच्छा होता है।

Admin-

आप किसी भी स्पोर्ट्स कोटा से सम्बंधित स्पोर्ट्स भर्ती की जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट कर सकते है जो की है – Gosportsindia.com स्पोर्ट्स कोटा भर्ती या अन्य आर्मी रैली के बारे में अपना सुझाव कमेंट बॉक्स में दे सकते है।

धन्यवाद –

Scroll to Top